अश्वगंधा के सम्पूर्ण फायदे, नुकसान और सेवन

Ashwgandha fayde sevan nuksan
Ashwgandha
ashwgandha what is ashwagandha in hindi - अश्वगंधा क्या है ?

अश्वगंधा का वैज्ञानिक नाम विथानिया सोमनिफेरा (withania Somnifera) है। इंग्लिश (English) में इसे विंटर चेरी (winter cherry) और इंडियन जिनसेंग ( Indian Jinsang) के नाम से भी जाना जाता है। इसका पौधा 40-80 सेमी० लंबा होता है। खास तौर पर इसकी जड़ो तने का उपयोग किया जाता है। यह मुख्य तौर पर सूखे इलाको में उगाया जाता है जैसे - राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश आदि। कुछ अन्य देशों में भी इसकी खेती होने लगी है। इसकी कुल 23 प्रजातियाँ पाई जाती है। जिसमे से 2 प्रजातियों की खेती भारत मे की जाती है।
यह पाउडर, टेबलेट (Tablet), और साबुत तौर पर बाजार में मिल जाएगा।

चलिए अब - अश्वगंधा के सेवन, फायदे,और नुकसान के बारे में विस्तार से जानते हैं

Ashwagandha powder usage in hindi - अश्वगंधा पाउडर का उपयोग

अश्वगंधा को आप गुनगुने पानी, दूध, गुड़, शहद और मिश्री के साथ उपयोग कर सकते है।

Ashwagandha dosage in hindi - अश्वगंधा की खुराक

एक वयस्क को यानि 18-25 उम्र के लोगो को 4-6 ग्राम अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए। छोटे बच्चो में इसकी मात्रा कम होकर 2-4 ग्राम होती है।

Benefits of Ashwgandha in hindi- अश्वगंधा के फायदे

अश्वगंधा हमारे सम्पूर्ण शरीर के लिए फायदेमंद माना जाता है। अश्वगंधा का आयुर्वेद में एक महत्वपूर्ण स्थान है। अश्वगंधा से हमारे शरीर को अनगिनत फायदे है। इसके लगातार सेवन से आपके शरीर की बहोत सी कमियां दूर होती है।

Health Benefits of Ashwagandha- सेहत संबंधी अश्वगंधा के फायदे

1.) नींद आना

जिन लोगो को नींद आने की problem है या वे देर रात तक जागते है। अश्वगंधा के नियमित सेवन से उनको अच्छी गहरी नींद आने लगती है।

2.) तनाव और थकान

अश्वगंधा हमारे तनाव और थकावट दोनों पर काम करती है। इसके नियमित सेवन से हमारे तनाव को कम कर मस्तिष्क को रिलैक्स (Relax) करता है और थकावट को कम कर पूरे दिन हमारे शरीर मे चुस्ती-स्फूर्ति बनाये रखता है।

3.) मांसपेशियों को मजबूत करना

यह हमारे शरीर के विभिन्न भागों की मांसपेशियों की ताकत बढ़ाकर उन्हें मजबूत करता है।

4.) (Sex power) प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है

यह हमारे वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाता है उसमें गाढ़ापन लाता है उसकी quantity को भी बढ़ाता है।
अश्वगंधा के लगातार सेवन से शारिरिक तौर पर कमजोर पुरुष में गर्भ धारण करवाने की क्षमता जाती है।

5.) खून बनाने में वृद्धि

यह आपकी लाल सफेद रक्त कणिकाओं को बढ़ाने में मदद करता है।

6.) कैंसर

एक शोध से पता चला है कि अश्वगंधा से निकले सत्त से कैंसर से बचा जा सकता है।
अश्वगंधा में थायराइड, डायबटीज, को भी ठीक करने की Anti - properties पाई जाती है।

7.) रोग - प्रतिरोधक क्षमता

जो लोग जल्दी बीमार ही जाते है उन लोगों की रोग - प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

8.) आंख की बीमारी

आज के दौर में आंखों की problems ज्यादा दिखाई देती है कुछ लोगी में मोतियाबिंद की बीमारी देखने को मिलती है।कुछ लोग मोतियाबिंद की वजह से अंधे तक हो जाते है। इसके प्रयोग से आप मोतियाबिंद से बच सकते है।

अश्वगंधा के फायदे, नुकसान और सेवन
अश्वगंधा का पौधा 


 Ashwgandha skin Benefits - त्वचा के लिए अश्वगंधा के फायदे


1.)एन्टी एजिंग

अश्वगंधा में एन्टी ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है जो आपके शरीर मे खून के दौरे को तेज करती है। जिससे आपकी त्वचा मुरझाई सी होकर जीवित चमकती हुई रहती है।

2.) घाव भरना

वैसे तो सीधे तौर पर अश्वगंधा आपके घाव नही भर सकता। लेकिन यह आपके घाव में बेक्टेरिया को पनपने से रोकने में मदद करता है।
इसके लिए आपको अश्वगंधा की जड़ को पीसकर उसमें पानी मिलाकर उसका पेस्ट बना लेना है और घाव की जगह पर लगाएं, जब तक आराम मिले इसे दिन में एक बार जरूर लगाएं।

3.) त्वचा में सूजन

जब आपकी त्वचा में सूजन आये, तब भी आप अश्वगंधा का पेस्ट लगा सकते है। जिससे आपको जल्दी आराम मिलेगा।

Hair Benefits of Ashwgandha- बालों के लिए अश्वगंधा के फायदे

1.)बालो को झड़ने से रोकना

तनाव की वजह से ही बालों के झड़ने की समस्या पैदा होती है। अश्वगंधा कोर्टिसोल लेवल को कम तनाव को कम करता है। जिससे बालो के झड़ने की समस्या से छुटकारा मिलता है।

2.)समय से पहले बालों का सफेद होना

यह हमारे समय से पहले होने वाले सफेद बालों को रोकने में मदद करता है।

 Side effect of Ashwgandha in hindi- अश्वगंधा के नुकसान

अगर आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते है तब आपको अश्वगंधा के दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए आपको इसकी बताई गई मात्रा से अधिक का सेवन नही करना चाहिए।
अश्वगंधा के नुकसान कुछ इस प्रकार है-

1.) अश्वगंधा की अधिकता से आपको पेट संबंधी रोग ही सकते है जैसे- पेट दर्द रहना, दस्त, उल्टियां आदि
2.) गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नही करना चाहिए। क्योंकि इसका सीधा असर आपके बच्चे पर पड़ता है। कुछ जगह इसका प्रयोग गर्भनिरोधक के तौर पर किया जाता है।
3.) इसके लगातार सेवन से नींद ज्यादा आने लगती है।
4.) इसके लंबे समय तक सेवन करने से यह अंग्रेजी दवाइयों के असर (प्रभाव) को कम कर देता है।





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां