Giloy benefits गिलोय के अनगिनत फायदे

गिलोय के औषधीय गुण जानकार हो जाएंगे हैरान 

Giloy fayde nuksan gun
गिलोय (Giloy)

गिलोय क्या है ? - what is Giloy in Hindi

गिलोय भारत के कई हिस्सों में पाई जाती है इसका वानस्पतिक नाम Tinospora Cordifolio है। इसे संस्कृत में गुडूची, अम्रता के नाम से भी जाना जाता है। गिलोय एक आयुर्वेदिक औषधि है आयुर्वेद में इसे एक 'रसायन' के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। इसमें आपके शरीर के सभी अंगों में सुधार लाने की क्षमता होती है।
यह एक लता या बेल होती है जिसे आप पेड़ो या दीवारों पर चढ़ते हुए देख सकते है। आप इसे घर पर गमले में भी उगा सकते है।
इसकी खास बात तो यह है कि यह पोषक तत्वों से भरपूर होने के साथ - साथ, जिस पेड़ पर इसकी बेल चढ़ती है ये उसके गन भी अपने अंदर ले लेती है जैसे - अगर यह नीम के पेड़ पर चढ़ती है तो इसमें नीम के गुण भी आ जाते है। हमारी तरफ तो गिलोय की बेल सफेदे के पेड़ पर चढ़ती है पता नही ? कौन से गुण आएंगे/इसमे

गिलोय की पहचान - Identify Giloy plant in Hindi

गिलोय की जड़ सफेद रंग की होती है तथा इसकी गंध तेज होती है।
गिलोय का तना सफेद रंग का होता है। इसकी भूरे रंग की छाल होती है। जब गिलोय का ताना पाक व पुराना हो जाता है तो इसकी छाल बड़ी आसानी से फट (उतर) जाती है। इस तना सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।
गिलोय का फल छोटा, थोड़ा गोल या अंडाकार होता है। इसका फल कच्चा हरे रंग का होता हैं और पकने के बाद वह टमाटर जैसा लाल हो जाता है। जब गिलोय का पौधा पत्ती रहित होता है तब इसमे फूल लगते है।

गिलोय के फायदे - Benefits of Giloy in Hindi

गिलोय (गुडूची) के अनगिनत फायदे है जिन्हें जानकर आप कहोगे OMG ( Oh My God) / गिलोय का इस्तेमाल पुराने समय से ही आयुर्वेद में व कई तरह के बुखारों में किया जाता है। आज इसका इस्तेमाल अंग्रेजी दवाइयों में भी किया जाता है। वैसे तो इसके तने का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है लेकिन कुछ जगह इसके जड़ व पत्तियों का भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमे कैल्शियम, फॉस्फोरस व स्टार्च अछि मात्रा में पाया जाता है
चलिए शुरू करते है गिलोय के फायदे -

1.) कान दर्द में फायदेमंद

कई बार कान में फुंसी होने पर, पस पड़ जाने से (कान बहना) या जख्म होने पर कान में दर्द होता है  इसमे भी गिलोय काफी फायदेमंद है इसके लिए आपको गिलोय की पत्तियों को पीसकर इसकी 2-4 बूंदे कान में डालने पर फ़ौरन आराम मिलता है।

2.) आंखों के लिए फायदेमंद

यह आंखों के रोगों या आंखों की रोशनी (Eye Side) को भी बढ़ाने में भी मदद करता है। इसके लिए आपको गिलोय के तने और पत्तियों को पानी मे उबालना है। जब तक पानी सूख कर थोड़ा न रह जाए। फिर उसे ठंडा करे, उसके बाद उसे अपनी पलको व आँखो पर लगाए। इससे आपकी आंखों की रोशनी में काफी सुधार होगा।

3.) रोग-प्रतिरोधक क्षमता में फायदेमंद

गिलोय रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी काफी कारगर हैं। जिससे आप स्वस्थ रहते है यह आपको खतरनाक रोगों से लड़ने में मदद करता है और शरीर के विषैले पदार्थों की बाहर निकालने में मदद करता है।

4.) एनीमिया में फायदेमंद

गिलोय के रस के लगातार सेवन से एनीमिया के रोग में काफी लाभ मिलता है। यह हमारे शरीर मे खून के स्तर को भी बढ़ता है।

5.) बुखार

गिलोय के सेवन से सभी तरह के बुखारों में आराम मिलता है चाहे बुख़ार कितना भी खतरनाक क्यों न हो, जैसे - (डेंगू, मलेरिया, स्वाइन फ्लू ) आदि। इनसे बचने के लिए आपको गिलोय का काढ़ा बनाकर रोज आधा कप के समान सेवन करना है।

6.) प्लेट्स की संख्या बढ़ाने में फायदेमंद 

 आपके शरीर मे प्लेट्स की कमी होने पर गिलोय के रस के सेवन से प्लेट्स की संख्या में काफी तेजी से वृद्धि होती है। प्लेट्स की संख्या कुछ बुखारों जैसे - डेंगू आदि में काफी कम हो जाती है।

बनाने की विधि - इसके लिए पहले आपको गिलोय के तने और एक बड़ा पपीते का पत्ता, काली मिर्च के 10 - 12 दाने और 10 -12 तुलसी के पत्ते एक गिलास पानी मे डालकर उबाल लें। जब तक वह सुख कर आधा गिलास न रह जाए। फिर इसका दिन में 2 बार सेवन करे। प्लेट्स की संख्या में वृद्धि कर, डेंगू को भी खत्म करेगा।

7.) मस्तिष्क के लिए फायदेमंद

गिलोय मस्तिष्क के लिए भी काफी फायदेमंद है यह दिमाग को तेज करने के साथ - साथ मानसिक तनाव और चिंता को भी कम करती है। इसके लिए आपको गिलोय के पत्ते और जड़ का सेवन करना है।

8.) पेट संबंधी समस्याएं

गिलोय पेट संबंधी समस्याओं में भी काफी फायदेमंद है। यह आपके पेट से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर कर आपको स्वस्थ बनाती है। इससे कब्ज, गैस और पेट दर्द जैसी प्रॉबलम्स नही होती है और पाचन तंत्र को भी तंदुरस्त करती है।

9.) मधुमेह

मधुमेह या Diabties होने पर गिलोय के रस का दिन में 2 बार सुबह - शाम सेवन करने से मधुमेह और डायबटीज़ से मुक्ति मिलती है।

10.) जोड़ो में दर्द होने पर

जोड़ो में दर्द होने पर गिलोय के रस में अरंड के तेल की कुछ बूंदे मिलाकर सेवन करने से लाभ मिलता है।

11.) युवा त्वचा

गिलोय को उम्र विरोधी भी कहा गया है यह काले धब्बे, झुर्रियां, बारीक लाइनों और मुहासों को कम करते है और आपकी त्वचा को युवा और सुंदर रखता है।

गिलोय के अन्य फायदे ( Other Benefits if Giloy in Hindi)


  • सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से पेट के कीड़ों के इलाज में फायदेमंद है।
  • शरीर मे जलन, दाद, खुजली होने पर गिलोय और नीम के पत्तो को मिलाकर काढ़ा बना ले और दिन में 2 बार सेवन करे।
  • यह सांस लेने में तकलीफ, गले मे खराश और दमा में भी फायदेमंद है।
  • यह खून साफ करके खून की मात्रा को भी बढ़ाता है।
  • गठिया रोग में भी गिलोय फायदा पहुँचाता है।
  • हमारे शरीर मे castrol को भी कम करता है।
  • शुगर level को भी नियंत्रित करता है।

गिलोय के नुकसान side effect of Giloy in Hindi 

 गर्भवती महिलाओं को भी इसका सेवन नही करना चाहिए।बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करे।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां