वीर्य, स्पर्म काउंट की संख्या बढ़ाने का आयुर्वेदिक इलाज।

Increase your sperm count

वीर्य से जुड़ी समस्याएं, कई युवाओं में देखने को मिलती है। बचपन मे की गई गलतियों या शारीरिक कमी के कारण यह समस्या देखी जाती है।  जिसके कारण हम पारिवारिक सुख नही ले पाते है और अपने पार्टनर को भी संतुष्ट नही कर पाते है जिसके कारण हमें शर्मिंदगी का अहसास होता है।

increase-sperm-count-in-hindi
वीर्य के शुक्राणु 

लेकिन यह कोई घबराने वाली बात नही है। आयुर्वेद में कई चमत्कारी औषधियों के बारे में बताया गया है जिससे हम इस समस्या को खत्म कर सकते है। इसके प्रयोग से (वीर्य की पतलापन, शुक्राणुओं की कम संख्या, वीर्य का कम होना, शीघ्रपतन) आदि समस्याओं से मुक्ति मिलती है।

आयुर्वेदिक औषधियाँ

इन जड़ी बूटियों का प्रयोग हर व्यक्ति कर सकता है लेकिन इनके ज्यादा प्रयोग से कभी-कभी स्वपनदोष भी हो सकता है।

अश्वगंधा

 वीर्य से जुड़ी समस्या में अश्वगंधा एक बेहतरीन औषधि है। अश्वगंधा के 1 हफ्ते के प्रयोग से ही आपको रिजल्ट देखने को मिलेंगे। इसके लगातार सेवन से वीर्य में गाढ़ापन, लिंग का कठोर और शारीरिक रूप से कमजोर व्यक्ति में भी बच्चा पैदा करने की क्षमता आ जाती है।

उपयोग की विधि


  • 4-5 ग्राम अश्वगंधा 1 गिलास दूध में मिलाकर रात को सोने से पहले सेवन करे।
  • आप चाहे तो दूध में मीठे के रूप में शहद, गुड़ या धागे वाली मिशरी का प्रयोग कर सकते है।

उरद की दाल

उरद की दाल के प्रयोग से वीर्य में गाढ़ापन और शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती है। उरदकी दाल भारी होने के कारण हजम होने में थोड़ा समय लेती है।

उपयोग की विधि


  • सुबह खाली वेट उरद की दाल का सेवन करे।
  • रात को उरद की दाल पानी मे भिगो दे।
  • सुबह इसे पानी से निकालकर दूध में अचे से पकायें।
  • इसे और पौष्टिक बनाने के लिए इसमे आप Dry Fruits भी डाल सकते है।

शतावर

शतावर के प्रयोग मर्दों में सेक्सुअल स्टेमिना को भी बढ़ाता है और महिलाओं में गर्भाशय को भी मजबूत करता है।

उपयोग की विधि

  • 5-10 ग्राम शतावर पाउडर को दूध में मिलाकर सेवन करे।
  • शतावर की जड़ को पानी मे उबालकर भी इसका सेवन कर सकते है।

सफेद मूसली

इसके सेवन से शीघ्रपतन, गाढ़ापन और नपुंसकता की समस्या दूर होती है।

उपयोग की विधि

  • रात को सोने से पहले 5-6 ग्राम सफेद मूसली के पाउडर केका सेवन गुनगुने दूध के साथ करे।

वीर्य की गुणवत्ता बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवाई

अगर आपको वीर्य व लिंग से जुड़ी कोई भी समस्या हो जैसे- मूत्राशय स्थान में जलन, वीर्य का पतलापन, वीर्य की कमी, वीर्य का गाढ़ापन और शीघ्रपतन आदि समस्याओं में एकदम बेजोड़ है। इस दवाई की हम गारंटी लेते है चलिए शुरू करते है-

  • अश्वगंधा, शतावर, सफेद मूसली और कोच के बीज को बराबर मात्रा में ले।
  • फिर इसे पीसकर इसका पाउडर बना ले।
  • और रात को सोने से पहले गुनगुने पानी या दूध के साथ सेवन करे।

कुछ दिनों के प्रयोग से ही आपको आष्चर्यजनक परिणाम देखने को मिलते है।

लिंग का आकार कैसे बड़ा करे 

कुछ लोगो का लिंग शारीरिक कमजोरी व हस्तमैथुन के कारण पूरी तरह से विकसित नही जो पाता है।
इसके लिए आपको 1 गिलास दूध में 4-5 केसर की पत्तियां और शहद मिलाकर सेवन करे।
वरना बाजार में बहोत से आयुर्वेदिक तेल मौजूद है। जिसके प्रयोग से लिंग का आकार बढ़ाया जा सकता है।

और पढ़े :- आयुर्वेद दवाई/औषधि के साथ क्या परहेज करना चाहिए।





टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां